FIGHT THYROID COMPLICATIONS WITH THESE-TOP 15 YOGA FOR THYROID



क्या योग थायराइड समस्याओं का इलाज करने में मदद कर सकता है? "FIGHT THYROID COMPLICATIONS WITH THESE-TOP 15 YOGA FOR THYROID" 

यह कहना बिलकुल तर्कसंगत होगा कि योग / Yoga, शारीरिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक कायाकल्प का एक प्राचीन परंतु वर्तमान समय में भी अत्यंत उपयोगी माध्यम है।योग हमारे शरीर और मन दोनों पर अपना सकारात्मक प्रभाव डालता है और हमारे तनाव को कम करता है और कल्याण का समर्थन करता है।








FIGHT THYROID COMPLICATIONS WITH THESE-TOP 15 YOGA FOR THYROID
YOGA FOR THYROID



थाइरोइड  ग्रंथि और उसका महत्व | THYROID GLAND AND ITS ROLE:

थायराइड गले में एक छोटी ग्रंथि है जो Thyroid हार्मोन का स्त्राव करती है।


ये हार्मोन किसी व्यक्ति के Metabolism, शरीर के तापमान और विकास/growth को प्रभावित करते हैं।Thyroid Hormones बच्चे के मस्तिष्क के सही प्रकर से 
विकास को भी प्रभावित करते हैं।

जब किसी व्यक्ति को Thyroid संबंधित कोई समस्या होती है, तो यह उसके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को प्रभावित कर सकती है।

इस post में हम Thyroid समस्याओं के लिए एक complementary  चिकित्सा के रूप में Yoga की उपयोगिता के विषय में जानेगें।



थाइरोइड सम्बंधित विकार | THYROID PROBLEMS IN HINDI:


Thyroid को प्रभावित करने वाली कई स्थितियां पायी जाती हैं।


सबसे आमतौर पर Thyroid से संबन्धित 2 प्रकार की समस्या देखने को मिलती हैं:

  1. Hypothyroidism
  2. Hyperthyroidism

1.हाइपरथायरायडिज्म कारण और लक्षण/

HYPERTHYROIDISM CAUSES AND SYMPTOMS 

IN HINDI:


Causes :

यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब Thyroid gland  थायराइड हार्मोन को अधिक मात्रा में पैदा करती है।

Hyperthyroidism का अंतर्निहित कारण Graves Disease या एक अति सक्रिय/overactive थायराइड होता है।

Symptoms:

  • B.M.R के बढ़ने के कारण अधिक भूख का लगना 
  • अधिक भोजन करने पर भी वजन का न बढ़ना बल्कि और ज्यादा दुबले होते जाना
  • असामन्य रूप से अधिक पसीना का आना   
  • जी घबराना 
  • Heart Beat का तेज़ होना 
  • रात में नींद आने में परेशानी का होना


2.हाइपोथायरायडिज्म/ HYPOTHYROIDISM CAUSES AND SYMPTOMS IN HINDI:


Causes :

यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब बहुत कम मात्रा में Thyroid Hormone का 
स्त्राव होनेलगता है।

यह अक्सर एक Autoimmune बीमारी के कारण होता है जिसमें थायरॉइड को नुकसान पहुंचाने वाली antibodies का निर्माण होने लगता  है।


Symptoms:
  • वजन का बढ़ना 
  • चेहरा का फूलापन लगना 
  • हर समय थकान महसूस करना 
  • सुस्ती और नकारात्मकता से भर जाना 
  • कब्ज़ की शिकायत का रहना 
  • बालों का पतला होना और झड़ना 
  • चेहरे पर असामन्य रूप से बालों का उगना 
  • स्त्रियों में मासिक चक्र अनियमित हो जाना 


क्या योग आपके थायराइड की मदद कर सकता है?/ IS YOGA BENEFICIAL FOR THYROID HEALTH IN HINDI?


योग हमारे समग्र स्वास्थ्य और कल्याण के लिए कई लाभ देता है। जैसे कि :

  • यह हमारी ऊर्जा को संतुलित कर सकता है 
  • शरीर का लचीलापन बढ़ा सकता है 
  • तनाव से छुटकारा दिला सकता है 
  • मन को शांत और प्रसन्न कर सकता है 



तनाव और Hypothyroidism  के बीच एक संबंध है, लेकिन कुछ Yoga Poses For Thyroid की मदद से निष्क्रिय/ nonfunctional या अति सक्रिय /hyperactive Thyroid को संतुलित किया जा सकता है।





कई अध्ययनों से यह साबित हुआ है कि Thyroid functions में सुधार के लिए Yoga  के सकारात्मक प्रभाव दिखने को मिलते हैं।





**NOTE** 


ध्यान रखें कि ये 'Yoga poses For Thyroid' थाइरोइड के असंतुलन का इलाज नहीं कर सकते हैं।



बल्कि योग को Complementary therapy माना जाता है, जिसे आप अपनी दवाईयों के साथ-साथ अपनी दिनचर्या में शामिल करें  ।



इसे वर्तमान में चल रहे किसी भी उपचार या दवाओं को बंद करके या दवाइयों के replacement के। रूप में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।


2014 में किए गए एक छोटे से research में पाया गया कि Yoga से Thyroid Gland के functions में सुधार हुआ। हालांकि, अध्ययन में यह भी कहा गया है कि दृढ़ निष्कर्ष निकालने के लिए अधिक प्रतिभागियों के साथ आगे के अध्ययन की आवश्यकता है ।





2016 के एक अध्ययन में पाया गया कि 6 महीने के योग अभ्यास ने Cholesterol level और थायराइड-उत्तेजक हार्मोन/ Thyroid-stimulating hormone (TSH) के स्तर में सुधार करने में मदद की।




Yoga के अभ्यास से Hypothyroidism से पीड़ित महिलाओं में  Thyroid replacement  therapy की आवश्यकता को कम कर दिया।


Thyroid Problems के लिए Yoga का अभ्यास शुरू करने से पहले, अपने चिकित्स्क से परामर्श आवश्य लें।

Yoga  Thyroid के लक्षणों से  सामना करने में निश्चित ही आपकी मदद करते हैं, परन्तु वे चिकित्सा का स्थान नहीं ले सकते हैं।

हालाँकि कुछ मामलों में देखा गया है निरंतर समय तक योगाभ्यास से दवा की आवश्यकता में कमी आ सकती है।

ज़्यादातर योगासन Hyper एवं Hypo Thyroid दोनों के मरीज़ों के लिए अच्छे माने जाते हैं,फिर भी दोनों स्तिथियों के लिए अलग-अलग Yoga Poses  का अभ्यास करके आप अधिक लाभ ले सकते हैं।

हाइपोथायरॉइड के लिए योगमुद्राएँ | YOGA FOR HYPOTHYROID IN HINDI:



FIGHT THYROID COMPLICATIONS WITH THESE-TOP 15 YOGA FOR THYROID

Yoga For Hypothyroid


1.सर्वांगासन | Sarvangasana | Supported shoulder stand:

यह थायराइड ग्रंथियों /Thyroid Gland को 
उत्तेजित/stimulate करने और Thyroxine Hormone को नियंत्रित करने में मदद करता है।

इस विशेष मुद्रा में, अवरुद्ध मुद्रा /inverted pose के कारण खून का बहाव पैरों से सिर की तरफ़ होने लगता हैऔर हमारी chin जिस तरह से छाती से touch करती है उससे, थायरॉइड को सही तरह से काम करने में मदद मिलती है।


2.मत्स्यासन | Matsyasana | Fish Pose:

यह मुद्रा एक मछली का रूप लेती है और इसलिए इसे मत्स्यसन कहा जाता है।

Fish pose में गर्दन पर एक खिचाव पैदा होता है जो थायराइड ग्रंथियों को उत्तेजित करता है।

यह आसन थायराइड रोगियों की आवश्यकताओं के अनुरूप बड़ी सरलता से उपचार प्रदान करता है।

यह तनाव के स्तर को कम करता है और मांसपेशियों /muscles और जोड़ों की कठोरता को कम करके लचीलापन लाता है।

यह शरीर को आराम करने और mood swings और depression को रोकने में मदद करता है जो अक्सर थायरॉइड संबन्धित परेशानियों का कारण बनतें हैं।


3.हलासन | Halasana | Plough Pose:

यह व्यायाम पेट और थायराइड ग्रंथियों को उत्तेजित करते हुए गर्दन को
compress करता है, जिससे थायराइड ग्रंथि उत्तेजित होती है।

हलासन मस्तिष्क को भी शांत करता है और तनाव और थकान को कम
करता है।

यह मुद्रा भारतीय हल के समान होती है, इसलिए इसे हलासन कहा जाता है।



4.मर्जरीआसान | Marjariasana | Cat stretch Pose

यह आसान हमारी रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाने के साथ, गले में एक खिचाव उत्पन्न 
करता है जिससे हमारी थाइरोइड  सक्रिय होती है और सुचारु रूप से कार्य करने लगती है।

यह आसान हमारे मन को शांत करने और शरीर में रक्त प्रवाह को बढ़ाने में भी मदद करता है।


5.शीर्षासन |  Shirasasana | HeadStand
:

यह बेहतरीन योग मुद्राओं में से एक है क्योंकि 
यह थायराइड ग्रंथियों पर बहुत सकारत्मक 
प्रभाव डालता है और उसे कार्य करने में मदद 
करता है।

यह metabolic functions को संतुलित करने में 
सहायता करता है ।

साथ ही साथ यह शरीर में जागरुकता और सतर्कता 
लाता है।



6. चक्रसना | ऊर्ध्वस्थुरासन| Chakrasana | Wheel Pose :

चक्रसना  जिसे ऊर्ध्वस्थुरासन भी कहा जाता है, एक ऐसा आसन है जिसमे शरीर ऊपर के 
ओर उठे धनुष की तरह
लगता है । इसे Wheel Pose भी कहते हैं।


यह बहुत ही अच्छे आसनों में से है जो हमारी Spine / रीढ़ की हड्डी को मजबूती देता है,Lungs,Chest,को फैलाने और मजबूत बनाने में सहायक होता है।

यह Yoga Pose हमारी Pitutary और 

Thyroid Gland को उत्तेजित करके hormones 
की उचित मात्रा का  स्त्राव करने में मदद करता है।

साथ ही साथ यह तनाव को दूर करने में भी सहयक होता है।


7.नौकासन |Naukasana|Boat Pose:

यह योगमुद्रा नाव या नौका की भांति लगती है जिसे कारण इसका नाम पड़ा नौकासन।

यह आसन गुर्दे/Kidney , थायराइड और प्रोस्टेट ग्रंथियों, और आंतों को उत्तेजित करता है।


8.उष्ट्रासन |Ushtrasana|Camel Pose:

यह आसान हमारी गर्दन में भी खिचाव लाता है 

और  रक्त प्रवाह को बढ़ाकर  Thyroid Gland 
को उतेजित करता है।

इस आसन से शरीर में लचीलापन आता है, शरीर को ताकत मिलती है तथा पाचन शक्ति बढ़ जाती है।


9. धनुरासन  | Dhanurasana | Bow Pose:

यह मुद्रा धनुष की तरह से दिखती है इसलिए इसे धनुरासन कहते हैं।

यह मुद्रा थायराइड ग्रंथि की प्रभावी ढंग से मालिश करती है और metabolism को नियंत्रित 
करने और आवश्यक मात्रा में हार्मोन का उत्पादन करने के लिए Thyroid Gland को मदद रती है।

धुनुरासन Hypothyoroidsm के इलाज और उसके complications को घटाने में प्रभावी है।



10.भुजंगासन |Bhujangasan|Cobra Pose:

भुजंगासन एक बहुत ही आसान किन्तु अत्यन्त लाभकारी आसन है।

Thyroid सम्बंधित बिमारियों में  अत्यंत लाभकारी आसन है। यह गले  में खिचाव उत्पन्न करके Thyroid को सक्रिय बनाता है। 


यह आसन गला ख़राब रहने या पुरानी खाँसी में भी लाभ पहुँचाता है।



11. सूर्य नमस्कार | SuryaNamaskaar | Sun    
 Salutations:

सूर्य नमस्कार को पूर्ण योग के रूप जाना जाता है क्यूंकि यह शरीर के सभी अंगों को लाभ पहुँचाता है और हमारे वजन को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है।

यदि तेज़ गति से इसका रोज़ाना अभ्यास किया जाये तो Hypothyroid के कारण बढ़ने वाले वजन को control किया जा सकता है। यह Yoga for thyroid and weight loss के लिए बहुत ही कारगर होता है। 

हाइपरथायरॉइड के लिए योगमुद्राएँ| YOGA FOR HYPERTHYROID IN HINDI:


FIGHT THYROID COMPLICATIONS WITH THESE-TOP 15 YOGA FOR THYROID
Yoga for Hyperthyroid


1.सेतुबंध | Setubandhasana| Bridge Pose:

यदि आप सेतुबन्ध योग को सफलतापूर्वक  करने में सक्षम हैं, तो आप अपनी गर्दन को 
काफी हद तक stretch कर सकते हैं और थायराइड ग्रंथियों को सक्रिय कर सकते हैं।

यह मस्तिष्क को शांत करने, चिंता को कम करने और पाचन तंत्र में सुधार करने में मदद करता है।

Hyperthyroid के मरीज़ों में अधिक anxiety,palptation आदि  लक्षण देखने को मिलते है जिन्हें कम करने में यह आसन मदद करता है।


2.शिशुआसन | Shishuasana | Child Pose:

जैसा कि नाम से ही पता चलता है इस आसन में हमारा pose बिलकुल fetal posture /भ्रूण की भाँती होता है।

यह बहुत ही आसान किन्तु शरीर को तनाव और आलस्य से मुक्त कराने में बहुत ही असरदार योग है।

यह शरीर में रक्तसंचार को बढा़ने के साथ- साथ सभी internal organs का मसाज करता है।

Hyperthyroid के मरीज़ों को यह शांत और स्थिर बनाने और बेचैनी को दूर करने तथा Thyroid ग्रंथि को सही तरह से काम करने में मदद करता है।


3.मार्जरीआसान | Marjariasana| Cat Stretch Pose:

जिस प्रकार से बिल्ली अपने शरीर में खिचाव पैदा करती है उसी तरह की स्तिथि का अभ्यास 
कहलाता है मार्जरीआसन।

यह बहुत ही लाभकारी असानो में से एक आसन है। यह रीढ़ के हड्डी को लचीला बनाता है।

गले में पायी जाने वाली thyroid gland को सही प्रकार से कार्य करने में मदद करता है।

पाचन प्रक्रिया सुधारता है , रक्त का प्रवाह बढ़ाता है, मन को शांत करता है और तनाव को दूर करता है।


4.शवासन | Shavasana|Corpse Pose:


सभी योगासानों को करने के बाद इस योग का अभ्यास करना बहुत ही लाभकारी माना जाता है।

 यह मुद्रा एक मृत शरीर की मुद्रा जैसा दिखती है और इसलिए इसका नाम शवासन रखा गया है।

यह स्थिति सुनने में काफी आसान लगती है, लेकिन इसमें आपको पूर्ण रूप से जगरूक भी रहना है, जागृत अवस्था में ,परन्तु साथ ही मन को पूरी तरह से शांत और विचार रहित रखना होता है।

यह मुद्रा बहुत गहरी चिकित्सा /Deep Healing  करती  है और पूरी तरह से आपके शरीर को आराम देता है।

जब भी आप बेहद थके  हुए हों तो आप इस मुद्रा का अभ्यास कर सकते हैं।

अच्छा संतुलित भोजन ,सही दवाइयों के साथ बताये गए योगों में से कुछ या सभी को अपनी दिनचर्या में शामिल करना आपके Thyroid Function को निःसंदेह बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

इन सभी Yoga For Thyroid के अभ्यास के साथ-साथ प्राणायाम जैसे कि -अनुलोम विलोम,नाड़ी शोधन, कपालभाति, उज्जायी आदि का भी अभ्यास thyroid से सम्बंधित परेशानियों से निज़ात दिलाने में बहुत ही कारगर होते है।

क्योंकि तनाव /stress को थाइरोइड विकारों 
के अनेक कारणों में से एक प्रमुख कारण माना 
जाता है,इस लिए ध्यान/meditation जो की मन
को शांत रखता है एवं दैनिक तनाव को कम करता है, 
भी अति उपयोगी माना जाता है Thyroid मरीज़ों के लिए।


कुछ पलों के लिए 'ओम' का उच्चारण करना भी लाभदायक होता है।

अपंने डॉक्टर की सलाह पर किसी अच्छे योग प्रशिक्षक से इन योग असानों का अभ्यास नियमित रूप से करने पर आप पायेंगें की आपको Thyroid Complictions में काफी आराम मिलेगा और आपकी quality of life में सुधार आएगा।

आशा करते हैं कि "FIGHT THYROID
COMPLICATIONS WITH THESE -TOP
15 YOGA FOR THYROID"- से सम्बंधित
जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और इनको
अपने नियमित दिनचर्या में शामिल करके आप
thyroid सम्बंधित परेशानियों से बच पायेंगें और यदि
आप पहले से Thyroid Problems के शिकार हैं तो
उससे होने वाली जटिलताओं से बच सकेंगें।

हमें comment करके जरूर बताये की जानकारी कैसी लगी

यदि आप भी Yoga का अभ्यास करते है और उसके सकारत्मक प्रभाव को महसूस कर चुकें हैं तो भी अवश्य comment करके मुझे बताये जिससे कि और लोग भी प्रोत्साहित हों और इसको अपने जीवन का अभिन्न अंग बनायें।

यह भी पढ़ें: दालचीनी के 14 फायदे | KNOW 14 HEALTH BENEFITS OF CINNAMON WHICH YOU MIGHT BE NOT KNOWING ABOUT

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »