फलों को खाने में न करें ये 6 गल्तियां।Avoid These 6 Mistakes For Getting Benefits Of Eating Fruits - HEALTH CORNER FOR ALL

Health, Beauty Tips, Fitness, Weight Loss, Ayurveda, Yoga, Overall Health....

Monday, April 08, 2019

फलों को खाने में न करें ये 6 गल्तियां।Avoid These 6 Mistakes For Getting Benefits Of Eating Fruits


'Avoid These 6 Mistakes For Getting Benefits Of Eating Fruits'-   जी हाँ,दोस्तों Healthy Eating Habits बहुत ही अहम् होती ही स्वस्थ रहने के लिए। हमारे भोजन में fruits या फलों का शामिल होना बेहद जरूरी माना गया है।Benefits of eating fruits की यदि हम बात करें तो यह कहना गलत नहीं होगा की fruits हमें प्रकृति द्वारा दिए गए सबसे बेहतरीन gifts में से एक है।

Avoid These 6 Mistakes For Getting Benefits Of Eating Fruits
Avoid These 6 Mistakes For Getting Benefits
Of Eating Fruits

जी हाँ, fruits से अच्छा कोई instant energy provider या ऊर्जा का स्त्रोत, detoxifier नहीं होता।  Fruits vitamins,  minerals, antioxidants और water का खजाना होते हैं,जो हमारे शरीर में natural way में इनकी आपूर्ति करने में सक्षम हैं बशर्ते सही तरीके से इनका सेवन किया जाये तो।

हममें से बहुत लोग Fruits का सेवन अच्छी मात्रा में भी करते हैं फिर  भी उन्हें इनका वो लाभ नहीं मिल पाता जो मिलना चाहिए।

और न चाहते हुए भी लोगों को multivitamins और calcium suppliments पर आश्रित रहना पड़ता है।

फलस्वरूप लोग ये धारणा बना लेते उन्हें Fruits माफिक नहीं आते या suit नहीं करते।

यहाँ तक कि कुछ लोग तो फलों के सेवन के बाद कई परेशानियां जैसे कि गैस का बनना/bloating , एसिडिटी/acidity की भी शिकायत करते हैं।

पर क्या कभी अपने सोचा ऐसा क्यों होता है?? किसी भी चीज़ को यदि सही तरीके,सही समय और सही रूप में  न लिया जाये तो निश्चित ही वो आपके शरीर को नुक्सान पंहुचा सकती है।

Fruits में मौजूद nutrients का यदि पूरा फायदा लेना है तो आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए,और तब ही आप पायेंगें maximum benefits of eating fruits.


आइये अब उन 6 गलतियां को जान लेते हैं जो हममें से ज्यादातर लोग करते हैं Fruits को खाने में और जिसके कारण उनको Benefits of eating fruits नहीं मिल पाते।

क्या आप भी खाने के साथ या बाद में फलों को खाते हैं ? /Eating Fruits Alongwith or After Meals 

ज्यादातर लोग खाना खाने के एकदम पहले,या खाने के साथ या sweet dish के रूप में  खाने के बाद फलों का सेवन करते हैं।

यह सबसे आम और सबसे बड़ी गलती है जो कारण बनती है अपच, गैस, पेट फूलना आदि का।

इस बात को समझना जरुरी कि fruits self digestable होते हैं  ।

अर्ताथ फलों को पचाने के लिए किसी digestive juices की आवश्यकता नहीं पड़ती और इसीलिए fruits 25 -30  मिनट लेते हैं पचने और शरीर से बहार निकलने के लिए।वही हमारे भोजन को पचने में ज्यादा समय लगता है  

जब हम खाने के साथ या बाद में fruits को खाते हैं तो य ये भोजन के साथ मिल जाते हैं और पेट से आगे intestine में जल्दी नहीं पहुँच पाते और इस कारण इनमे सड़न / fermentation शुरू हो जाता है। 

यही fermentation कारण बनता है पेट में gas बनने और bloating होने का। 




कहीं आप भी फलों को काटकर और स्टोर करके तो नहीं रखते ?/ Cutting & Storing Fruits

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास अपने लिए समय नहीं रहता  और खाने पीने के लिए तो बिलकुल भी नहीं।

ऐसे में एक चलन चला है कि रात में ही फलों और सब्जियों को काटकर फ्रिज में store कर लेने का। और सुबह office या school जाते समय टिफ़िन में कटे हुए इन फलों ले जाने का,यह सोचकर की healthy diet लेनी है। 

पर आप क्या ये जानते हैं ऐसा करके आप खुद का और अपने बच्चों का जाने अनजाने नुकसान कर रहे हैं। 

जी हाँ 20 मिनट से ज्यादा देर तक काटकर रखे हुये Fruits अपना nutrition खोना शुरू कर देते हैं ,ऐसे में
रात भर काट के रखना और अगले दिन में इनका सेवन क रने से आपको सही मायनों में किसी भी प्रकार
का लाभ नहीं देता।

दूसरी सबसे अहम् बात यह है कि वैसे तो  Fruits alkaline in nature / क्षारीय होते हैं जो कि हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है।

पर जब हम फलों को काटकर store करते हैं तो यह धीरे-धीरे 'acidic' होने लगते हैं और इनके सेवन से त्वचा और बालों को नुक्सान होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। असमय बालों का सफ़ेद होना, झड़ना, चेहरे पर दानों काहोना देखा जा सकता है।  

क्या आप भी मौसमी फलों का सेवन नहीं करते हैं ? /Not Eating Locally Grown Seasonal Fruits 

इसमें कोई शक नहीं कि हर fruit अपनी अलग खासियत और nutritional value रखता है ।

पर एक बात यह भी सच है कि nature ने किसी भी स्थान की जलवायु और मौसम के हिसाब से ही फलों
और सब्जियों को पैदा किया है। ये बात बहुत ही महत्वपूर्ण है आपके फलों के सेवन के चुनाव में। 

आज का युग supermarkets और marketing का युग है। जैसा हम विज्ञापनों में देखते हैं या पढ़ते हैं वैसा ही हम अपनी रोज़मर्रा के जीवन में करने की होड़ में लग जाते हैं। 

आजकल supermarkets में अनेकों imported fruits जैसे कि avacado, kiwi, imported plums,आदि  भरे पड़े रहते हैं और हम लोग भी उन्ही को खीरदने पर जोर देते हैं और शान की बात भी समझते हैं।

निःसन्देह ये सभी फल बहुत ही nutritious होते हैं परन्तु उन जगह के लोगों के लिए जहाँ ये उगते हैं। 

किसी भी फल और सब्ज़ी को पेड़ से टूटकर आपके पेट तक पहुंचने में जितना कम समय लगता है उसका उतना ही ज्यादा  फायदा भी मिलता है आपको। 

जी हाँ imported fruits कच्चे में तोड़कर deep फ्रीज करके इतने लम्बे अंतराल के बाद आप तक पहुँचते है जिससे की उनकी nutrtional value न के बराबर रह जाती है। ऊपर से उनका दाम भी  local seasonal fruits से कई गुना अधिक होता है। 

वही मौसमी और local फ्रूट्स जो आपके आस पास उगते  हैं वो आपको भरपूर पोषण तो देते ही हैं साथ में आपके शहर की जलवायु के अनुकूल होने के कारण ज्यादा लाभकारी होते हैं। 

क्या आप फलों को खाने का सही समय जानते हैं ?/ Improper Time Of Eating Fruits  ( at Night) 

ज्यादातर लोगों यह सोचतें हैं कि क्यूंकि fruits healthy और nutritious होते हैं इसलिए फलों को किसी भी समय खाया जा सकता है।


परन्तु रात में फलों के सेवन से Acidity होने का खतरा रहता है क्योंकि सूर्यास्त के बाद हमारा शरीर फलों को सही रूप से पचा नहीं पाता।



क्या सच में आप फलों को सही तरीका से खाते हैं / Taking Fruits in Wrong Way

ज्यादातर लोग fruit juices को पीना ज्यादा पसंद करते हैं जो सेहत के लिए लाभदायक तो है,परंतु  whole fruits जितना नहीं । फलों को साबुत खाना सबसे अच्छा होता है ।


जब हम फलों का जूस निकाल लेते हैं तो उनमें मौजूद Dietery fibers निकल जाते हैं जो कि हमारे digestion को सही रखने तथा पेट के cancer से बचाने में बहुत ही अहम भूमिका निभाते हैं।


साथ ही साथ जो जूस को पीने से हमारे खून में sugar की मात्रा तेजी से बढ़ जाती है जिससे कि diabetic  patients  में अचानक से sugar level बढ़ सकता है।


और यदि आप packed juices का प्रयोग करते  हैं तब आपको किसी भी प्रकार का nutrition नहीं  मिल रहा  बल्कि आप added sugars,artificial flavours और preservatives को पीकर अपनी सेहत के साथ जाने अनजाने खिलवाड़ ही कर रहें हैं।


वहीं यदि हम साबुत फल / whole fruit खाते हैं तो सही मात्रा में पोषक तत्व blood circulation में पहुंचतें
हैं तथा इसमें मौजूद fibers laxative का काम करते हैं। जिससे कि जिन लोगों को कब्ज /constipation की शिकायत रहती है उसमें बहुत ही ज्यादा फायदा देखने को मिलता है।


Fruits में मौजूद dietery fibers weight loss या  वजन कम करने में भी बहुत मदद करते हैं।
यह भी पढें:WEIGHT LOSS WITH WATERMELON DETOX DIET IN HINDI


कही आप भी फलों को दूध या अन्य पेयों के साथ तो नहीं ले रहे ?/Having Fruits With Milk or Tea


फलों को और खास तौर से खट्टे फलों /citrus fruits को कभी भी दूध या चाय के के साथ न लें।

ये कई तरह की Skin problems का कारण बन सकता है।

दूध क सथ अगर लेना ही चहतं हैं तो कुछ मीठे फ़ल जैसे कि आम,केला,खजूर आदि का सेवन कर सकते हैं।
वैसे आयुर्वेद के हिसाब से milk के साथ किसी भी फ़ल का सेवन मना होता है, dry fruits को छोड़कर।

तो आपने देखा कैसे हम सभी जाने अनजाने fruits के benefits को सही ढंग से नहीं ले पा रहें हैं। हम फ़लों का सेवन तो कर रहे हैं वो भी महगें महगें फ़लों का परन्तु आधी अधूरी जानकारी के कारण उनका जो  nutrition  मिलना चाहिए वह नहीं मिल पा रहा।



तो अब से अगर आपको लेने हैं maximum benefits of eating fruits तो नीचे  दिए गए बातों का ख्याल
रखें  :

  1. रोज फ़लों का सेवन करने की आदत बना ले। 
  2. कोशिश करें सुबह खाली पेट fruits को खाने की (ये आपको detoxification में और weight loss में भी मदद करेगा )
  3. खाने के 1-2 घंटे पहले या बाद में ही फ्रूट्स को खाएं ।     (ऐसा करने से अपच, पेट फूलना आदि समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।
    Right Way Of Eating Fruits
    Right Way Of Eating Fruits
  4. हमेशा seasonal और local fruits खाने पर ही ज़ोर दें। (मौसमी फल हमेशा ज्यादा nutritious होते हैं।)
  5. साबुत फल या wholefruit खाएं।(ऐसा करने से fibers की आपूर्ति भी हो जाती है।)
  6. Fruits  को काटकर  store करके न रखें।(ऐसा करने से फ़लों का nutrition नष्ट ह जाता है।)
  7. दूध और चाय के साथ फलों का सेवन करने से बचें ।

आशा करतें हैं कि अब आप जान गयें होगें कि Fruits को खाने में किन 6 गलतियों से बचना चाहिए। जिससे कि आपको Benefits Of Eating Fruits भी मिले और किसी प्रकार का नुकसान भी न हो।

जानकारी कैसी लगी comment करके बताइए और ज्यादा से ज्यादा लोंगों के साथ share करें।

No comments:

Post a Comment