WHAT ARE VITAMINS:THEIR CLASSIFICATION,IMPORTANCE &; ROLES IN HUMAN BODY

आज हम  बात करेंगें WHAT ARE VITAMINS,THEIR CLASSIFICATION,THEIR IMPORTANCE & ROLES IN HUMAN BODY के बारे में और जानेगें की कहीं हम अपने भोजन में vitamins की अनदेखी तो नहीं कर रहे।


क्यूंकि हमारी overall health तभी अच्छी रहेगी जब हम healthy diet / balanced diet को अपने दिनचर्या का हिस्सा बना लेंगें। हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमारे भोजन का संतुलित व पौष्टिक (healthy diet) होना अतयंत आवयशक होता है।

स्वस्थ भोजन से ही स्वस्थ शरीर व् मन का निर्माण संभव है क्यूंकि भोजन शरीर के लिए ऊर्जा का मुख्य स्त्रोत का कार्य करता है। संतुलित भोजन (balanced diet)  में सही मात्रा में carbohydrate, fat, protein, fibers, minerals,vitamins या कहें multivitamins आदि का होना जरुरी है,क्यूंकि सभी का अपना-अपना महत्व है हमारे शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए।
  WHAT ARE VITAMINS:THEIR CLASSIFICATION,THEIR IMPORTANCE &; ROLES IN HUMAN BODY
  WHAT ARE VITAMINS: CLASSIFICATION, IMPORTANCE & ROLES IN HUMAN BODY

WHAT ARE VITAMINS, THEIR CLASSIFICATION, THEIR IMPORTANCE & ROLES IN HUMAN BODY:

क्या होते हैं विटामिन्स? WHAT ARE VITAMINS IN HINDI


Vitamins  ऐसे  आर्गेनिक पदार्थ (organic sustances) होते  हैं, जिनका  बहुत  कम मात्रा में परन्तु उचित मात्रा में आवश्यक रूप से भोजन में उपस्तिथ होना जरुरी है।
इसीलिए इन्हें Micronutrients या सूक्ष्म पोषकतत्त्व कहा जाता है। ये हमारे शरीर में होने वाली metabolic and essential functions के लिए बहुत जरूरी होते हैं।
Vitamins  को जीवन रक्षक (life savers) भी कहा जाता है ,क्यूंकि ये हमारे शरीर को विभिन्न रोगों(diseases) से बचाते है ,साथ ही साथ शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने में मदद करते हैं।

विटामिन्स क्या शरीर में बनते हैं ? (WHETHER VITAMINS ARE FORMED IN HUMAN BODY OR NOT IN HINDI)

Vitamins  का निर्माण हमारे शरीर में नहीं हो पता है या न के बराबर होता है।

इसीलिए बाहर से भोजन के द्वारा इनकी आपूर्ति होना आवयशक हो जाती है। इनकी कमी से हमारे शरीर
 में deficiency diseases / vitamin deficiency हो जाती हैँ।

परन्तु एक बहुत ही ख़ास बात है Vitamins की अधिक मात्रा हमारे शरीर में toxicity उत्पन्नं करके
नुक्सान भी पहुँचा सकती है। इसलिए उचित मात्रा  में ही इनका  सेवन हमें लाभ देता है।



विटामिन्स के प्रकार (TYPES OF VITAMINS & THEIR CLASSIFICATION In Hindi):

Vitamins कई प्रकार के होते हैं। इनको मुख्य रूप से दो भागों बाटा जा सकता है-

 * पहले वो जो वसा में घुलनशील (fat soluble vitamins) होते हैं।
 * दूसरे वो जो पानी में घुलनशील (water soluble vitamins) होते हैं।

1.FAT SOLUBLE VITAMINS-के अंतर्गत आते है :
   Vit. A, Vit. D , Vit E. व Vit K. ये सभी शरीर में मौजूद वसा में घुलकर अपना कार्य करते है
   व् हमारे शरीर में इनको संचित किया जा सकता है।

2.WATER SOLUBLE VITAMINS -के अंतर्गत आते है :

  Vit B complex (B1 , B2 ,B3 ,B5 ,B6, B7, B12), Vit C ये सभी पानी में घुलने सक्ष्म होते हैं।
   ये हमारे शरीर में संचित नहीं होते है।

यह भी पढ़े ं: WEIGHT LOSS WITH WATERMELON DETOX DIET IN  HINDI




शरीर के लिए विटामिन्स का महत्व ROLES & IMPORTANCE OF VITAMINS IN HUMAN BODY IN HINDI:


हर vitamin  का अपना अलग महत्व व् कार्य है। ये सभी एक निश्चित मात्रा में शरीर के सही रूप से
कार्य करने में अपनी भूमिका निभाते हैं। चलिए एक- एक करके सभी vitamins  के महत्व और हमारे
शरीर में इनकी उपयोगिता के बारे में जान लेते हैं।

1.   विटामिन ए (VITAMIN A IN HINDI )

Vitamin A  हमारे शरीर  में काफी मात्रा में स्टोर रह सकता है, इसलिए अगर एक साल तक भी भोजन
में इसकी मात्रा कम हो तो deficiency disease के लक्षण नहीं देखने को मिलते हैं ।

आइये vitamin A के शरीर पर प्रभाव के बारे में जानतें हैं।

* आँखों के लिए – Required for normal vision

आँखों की सेहत की बात हम अगर करें तो Vitamin A  इसमें काफी अहम् भूमिका निभाता है।
आँखों की रोशिनी को बढ़ाने व् स्वस्थ रखने का कार्य करता है।

* शारीरिक विकास –Growth and physical development

  शरीर के विकास (growth) व सेल्स के विभाजन (cell division) के लिए इसकी अव्यश्कता होती है।
   इसके अलावा मसूड़ों (gums) ,दांतो (teeth) ,हड्डियों (bones)  को मजबूत बनाने में मदद करता है।

  * रोग प्रतिरोधक क्षमता – Immune function
   Vitamin A के ऊपर कई researches बताती  है की बच्चों में इसकी कमी से diarrohea व्
   खसरा (measles) जैसे लक्षण हो जाते है, साथ ही साथ कम रौशनी में दिखाई देना भी कम हो
   जाता है जिसे रतोंधी (night blindness) कहते  है।

* बुढ़ापे के लक्षणों को रोकता है -Prevents signs of ageing

Vitamin A हमारी त्वचा को अधिक लचीला (elastic ) ,स्वस्थ व् झुर्रीरहित (wrinkle -free)
बनाये रखने में मदद करता है।जिससे हम ज्यादा युवा (young) दिख सकते है।


* कैंसर से बचाव -Helps to fight cancer:

Vitamin A कैंसर (Cancer) जैसी भयानक बीमारी से बचाव करने में भी काफी मददगार साबित होता।
यदि हम अपने भोजन में Vitamin A को भरपूर मात्रा में ग्रहण करते हैं तो हम इससे काफी हद
तक बचे रह सकते हैं।

इसके अलावा Vitamin A हमारे फिजियोलॉजिकल फंक्शन (physiological functions) में
बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यह vitamin  शरीर में new cells के बनाने में मदद करता है और इस तरह यह हमारे शरीर की
growth में अहम् भूमिका निभाता है।

2.बी (VITAMIN B IN HINDI)


Vitamin -B complex शरीर को स्वस्थ व जीवन शक्ति देने के लिए अत्यंत ही आवश्यक vitamin
में से एक है। हमारे शरीर के तंत्रिका तंत्र यानी (nervous system) व पाचन /digestion में बहुत ही
अहम भूमिका निभाता है

यह हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म(metabolism) को बढ़ाने के साथ-साथ हमारी skin ,tissues ,
हड्डियों (bones) तंत्रिका तंत्र(nervous system) को स्वस्थ रखता है।

इसका एक मुख्य कार्य शरीर के मौजूद पोषक तत्वों को ऊर्जा(energy)  में बदलने का  भी होता है,
अतः ये हमारे शरीर को चुस्त -दुरुस्त रखने और energetic रखने के लिए बहुत जरुरी होता है।

 Vitamin B कोशिकाओं (cells) में पाए जाने वाले डीएनए (D.N.A) के निर्माण में अहम भूमिका
 निभाता है। लाल रक्त कोशिकाओं (red blood cells) के बनने में भी मदद करता है।

इसकी कमी से कई बीमारियां हो सकती हैं जैसे की -
  • थकान 
  • एनीमिया (anemia), 
  • डिप्रेशन(depression),
  • बालों का झड़ना (hair loss),
  • मांसपेशियों का दर्द (muscular pain) ,
  • त्वचा संबंधी बीमारियां जैसे एक्जिमा(eczema)



3.विटामिन सी (VITAMIN C IN HINDI)

Vitamin C को एस्कॉर्बिक एसिड(Ascorbic acid) के नाम से भी जाना जाता है।


Vitamin C हमारे शरीर की समस्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने व शरीर की कोशिकाओं को एक
 साथ जोड़कर रखने का कार्य करता है।

शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता (Immunity) को बढ़ाकर हमें seasonal infections खांसी,
जुखाम, बुख़ार आदि बीमारियों से हमारी रक्षा करता है।

Vitamin C  कोलज़ेन (collagen) नामक पदार्थ ligaments ,रक्त वाहिनियों (blood vessels) आदि
के निर्माण में मदद करता है।

Vitamin C  एक बहुत ही अच्छे एंटीऑक्सीडेंट /Anti-Oxidant के रूप में भी कार्य करता है,तथा
 शरीर को free-radicles से होने वाले नुक्सान से बचाता है।

Gums (मसूड़ों ) व् दांतों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए vitamin C का बहुत बड़ा योगदान होता है
क्यूंकि gums में collagen अधिक मात्रा पाया जाता है और Vit C इसके सही रूप से निर्माण में
सहायक होता है  ।

Vitamin C मसूड़ों से खून (bleeding gums) आने की समस्या को रोकता है व् इसकी कमी से
दांत व मसूड़े ढीले हो सकते हैं और मसूड़ों से खून आने की समस्या हो सकती  है।

चोट लगने की स्थिति (injuries) में Vitamin C घाव को जल्दी भरने में भी मदद करता है।
इसकी कमी से स्कर्वी (scurvy) नामक रोग हो जाता है।



और भी पढ़े ं: Health and Beauty Benefits of Oranges


4.विटामिन डी (VITAMIN D IN HINDI)


Vitamin D वसा में घुलनशील विटामिन(fat soluble vitamin) की श्रेणी में आता है। यह ऐसा Vitamin
है जो की हमें ,सुबह की धूप से प्राप्त होता है।

हमारे शरीर में Vitamin D के precursor skin में पाए जाते हैं। जो की सुरज की सुबह की U.V rays  के
संपर्क में आने पर Vitamin D 3 में परिवर्तित ,जो की liver और kidney में metabolic process द्वारा
Active Vitamin D में हो जाता है।

Vitamin D  कैल्शियम (calcium ) को शरीर में बनाए रखने व् उसके absorption (शोषण ) में मदद
करता है जिसके द्वारा हमारी हड्डियां व मांसपेशियां (bones and muscles )मजबूत होती हैं,



अन्यथा इसके अभाव में हड्डी कमजोर व कोमल हो जाती है और उनके fracture (टूटने) का खतरा भी
अधिक बढ़ जाता है।

Vitamin D की कमी से बच्चों में रिकेट्स  (Rickets)  व् वयस्कों में ओस्टेओमलेशिया (Osteomalacia)
 नामक  बीमारी हो जाती है।

इसकी कमी से हड्डियां कमजोर होकर टूटने का भी खतरा रहता है,जिसे ऑस्टियोपोरोसिस
(Osteoporosis) कहते है।

यह भी पढ़ें:All About Osteoporosis-Causes, Symptoms, Prevention, and Treatment

इसके अलावा शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को भी मजबूत (strong)बनाता है।


5.विटामिन इ  (VITAMIN E IN HINDI)


Vitamin E  वसा में घुलनशील (fat soluble vitamin), टोकोफ़ेरॉल (tocopherol) ग्रुप का विटामिन है।

यह एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट (anti-oxidants) का काम करता है तथा कोशिकाओं के बाहरी
 आवरण को ऑक्सीजन के फ्री रेडिकल्स(free radicals) से सुरक्षित रखता है।


विटामिन E हमारी त्वचा व् बालों को भी स्वस्थ रखने में अहम् भूमिका निभाता है। Skin को
अधिक elastic ,soft बनाने और hair growth में बहुत ही helpful vitamin  है।



इसका स्त्री व् पुरषों की प्रजनन की क्षमता (Male &Female FERTILTY) को बनाये रखने में बड़ा
योगदान होता है,इसकी कमी से इनफर्टिलिटी (infertility) की समस्या उत्पन हो जातीहै।



6.विटामिन के (VITAMIN K IN HINDI)


Vitamin K fat soluble  (वसा में घुलनशील) विटामिन है।


यह शरीर में चोट लगने की स्तिथि में खून को जमाकर उसका थक्का (blood clot formation) बनाने में मदद करता है,जिससे की खून का बहना बंद हो जाता है।


इसकी कमी होने पर खून बहना बंद नहीं होता क्यूंकि blood clot नहीं बन पाता है। यह हमारे लीवर(liver) को भी स्वस्थ रखता है।

दोस्तों देखा अपने,WHAT ARE VITAMINS,THEIR CLASSIFICATION,THEIR IMPORTANCE & ROLES IN HUMAN BODY, भले ही कम मात्रा में सही परन्तु vitamins का हमारे शरीर के सुचारू रूप से कार्य करने के लिए अपना विशेष महत्त्व है,इसलिए अपने भोजन में इनको महत्व दीजिये और Healthy diet लेकर हमेशा स्वस्थ रहिये,खुश रहिये !!!


अगर आपको लेख पसंद आया तो शेयर काना न भूले। और अगर आप कुछ जानना चाहतें हैं तो अपना प्रश्न कमेंट बॉक्स में डालें।

Share this

Related Posts

First