करें ये 5 प्राणायाम और हर इन्फेक्शन के खिलाफ अपनी इम्युनिटी को करें मज़बूत | 5 Best Pranayam for Immunity In Hindi - HEALTH CORNER FOR ALL

Health, Beauty Tips, Fitness, Weight Loss, Ayurveda, Yoga, Overall Health....

Friday, March 20, 2020

करें ये 5 प्राणायाम और हर इन्फेक्शन के खिलाफ अपनी इम्युनिटी को करें मज़बूत | 5 Best Pranayam for Immunity In Hindi

Pranayam For Boosting Immunity| Yog se kaise badhayein apni immunity| 5 Best Pranayam for Immunity In Hindi



क्या कभी अपने सोचा है कि हम हर पल अपने आस-पास के वातावरण में मौजूद अदृश्य बैक्टीरिया,वायरस और अन्य बीमारी फैलाने वालेजीवाणुओं के संपर्क में रहते हैं चाहे वो flu का वायरस हो महामारी फैलाने वाला कोरोना वायरस। 



5 Best Pranayam for Immunity In Hindi
Pranayama for Immune system


परन्तु हमसे कुछ लोग इन सभी से बचे रहते हैं और कुछ बड़ी आसानी से इन्फेक्शन की गिरफ्त में आ जाते हैं। 

ऐसा क्यों  होता है ??

हमारे शरीर में infections से लड़ने और हमें बिमारियों से बचाने के लिए निरंतर हमारा Immune System या रोग प्रतिरोधात्मक प्रणाली सक्रिय रहती है। जब भी हम किसी भी इन्फेक्शन के संपर्क में आते  हैं तो ये पूरा सिस्टम उससे हमें बचाने के  लिए सक्रिय हो जाता है। 

हमारा ध्यान हमारे immune सिस्टम की तरफ तभी जाता है जब इसके कमज़ोर होने के चलते हम बड़ी आसानी से बदलते मौसम या seasonal diseases के समय किसी बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। 

बदलती lifestyle, stress और pollution हमारी इम्युनिटी को कमज़ोर करने के लिए काफी हद तक ज़िम्मेदार हैं।
Stress का होना, नींद का पूरा न होना, असंतुलित भोजन और पानी की सही मात्रा में सेवन न करना कमज़ोर immune system के बहुत बड़े कारण  हैं। 

कमज़ोर Immune System से हमें न केवल छोटे-मोटे इन्फेक्शन्स बल्कि गंभीर बिमारियों जैसे की T.B, cancer आदि तक के होने खतरा रहता है। 




योग और प्राणायाम का निरंतर अभ्यास करके हम अपने Immune System और Immunity को boost कर सकते हैं। योग बड़े सहज तरीके से हमारे तनाव को कम करके शरीर के सभी systems को 
सही तरीके से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है। 
योग में प्राणायाम का बहुत ही अधिक महत्व है। प्राणायाम दो शब्दों से मिलकर बना है प्राण जिसका अर्थ होता है "जीवन शक्ति"और आयाम जिसका अर्थ होता है "लम्बा होना "प्राणायाम साँस के द्वारा शरीर के सभी नाड़ियों में ऊर्जा का संचार करता है। 

हम जितना अपनी साँसों पर ध्यान देते है और सही तरीके से साँस लेते हैं और बाहर निकालते है उतना ही हम अपने शरीर को detoxify करके स्वस्थ होते जाते हैं।क्यूंकि साँस के माध्यम से हम 80% तक 
विषैले पदाथों को बाहर निकाल पाते है। 

गहरी और लंबी साँस लेने से रक्त प्रवाह बढ़ता है और शरीर के सभी अंगों को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है जिससे शरीरकी हर कोशिका अच्छी तरह से कार्य करने लगती है और उनमें repair और
regeneration भी तेजी से होने लगता है।


करें ये 5 प्राणायाम और हर इन्फेक्शन के खिलाफ अपनी इम्युनिटी को करें मज़बूत |5 Best Pranayam for Immunity In Hindi


शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक शक्ति को बढ़ाने वाले 5 प्राणायाम इस प्रकार हैं जिनको रोज़ अपने जीवन में शामिल करके हम शरीर को अंदर से और अधिक मज़बूत बना सकते हैं और बिमारियों से अपना बचाव कर सकते हैं। 

1.नाड़ी शोधन प्राणायाम/Alternate Nostril Breathing For Boosting Immunity in Hindi:


नाड़ी शोधन प्राणायाम में एक नाक से साँस लेकर दूसरी नाक से बाहर निकलते हैं 

नाड़ी शोधन प्राणायाम शरीर की प्राण ऊर्जा को बढ़ाने में बहुत ही अहम् भूमिका निभाता है।

यह हमारे मन को शांत करता है,तनाव दूर करता है शरीर के Nervous system पर सकारात्मक प्रभाव डालता है

हमारे श्वसन तंत्र यानि हमारे lungs और respiratory system के लिए एक वरदान की तरह है। इसको रोज़ करने से Respiratory 
Allergies जैसे की सर्दी,ज़ुखाम छीँक आना आदि से काफी हद तक बचा जा सकता है। 

नाड़ी शोधन प्राणायाम मन को एकाग्रचित करने या concentration बढ़ाने के लिए भी बहुत कारगर है। 




2भस्त्रिका प्राणायाम/Bellows Breathing Technique For Boosting Immunity in Hindi:

भस्त्रिका प्राणायाम में धौंकनी की भाँति आवाज करते हुए वेगपूर्वक शुद्ध हवा को अन्दर ले जाते हैं और अशुद्ध वायु को भी तेज़ी से बाहर निकालते
हैं।


यह प्राणायाम हमारे respiratory system को साफ़ करता है,lungs की शक्ति और क्षमता को बढ़ाता है और एलर्जी और अस्थमा को दूर करता है,शरीर में oxygen के संचार को बढ़ता है। 

अगर कभी भी शरीर में कमज़ोरी का अहसास हो 
रहा हो या energy level low लग रहा हो तो 
instant energy के लिए bhastrika 
pranayam करें। 

यह हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करता है। हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक शक्ति को बढाकर हमें बिमारियों से बचाता है। 

3.कपालभाति प्राणायाम/

Skull Shinning Breath For Boosting Immunity in Hindi:


कपालभाति बना है दो शब्दों से, कपाल जिसका अर्थ है माथा और भाति का अर्थ है तेज़। इसका मतलब है की जो लोग नित्य रूप से इसको करते हैं उनके चेहरे और माथे पर एक तेज़ देखने को मिलता है। 



कपालभांति प्राणायाम हमारे शरीर से 80% तक toxins या विषैले पदार्थों को बाहर निकलने में
सक्षम है।खून को शुद्ध करके सभी कोशिकाओं को नयी ऊर्जा देता है। 

यह हमारे फेफड़ों को,पाचन तंत्र को,शरीर की रोग प्रतोरोधात्मक क्षमता को बढ़ाने,मनको शांत रखने,
Concentration को बढ़ाने में बहुत अधिक सहायता करता  है। 

4.भ्रामरी प्राणायाम/

  1. Humming Bee Breath For Boosting Immunity in Hindi:

भामरी प्राणायाम जिसमे भवरें की भांति आवाज निकाले जाने के कारण इसको ये नाम मिला है। यह प्राणायाम हमारे मन को शाँत करने और  तनाव से मुक्त करने में बहुत ही कारगर है।

क्रोध को कम करने में मदद करता है।नींद न आने की समस्या को दूर करता है।Blood Pressure को कम करता है। 

पीनियल और पिट्यूटरी ग्रंथियों को उत्तेजित करता है, और उन्हें  सही तरीके से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है।  





यह भी पढ़ें :
जानें क्यों करना चाहिए भुजंगासन ? | Benefits Of Cobra Pose 


5.उज्जयी प्राणायाम/Breath of Victory For Boosting Immunity in Hindi:


शरीर के Immune System को बढ़ाने में उज्जयी प्राणायाम बहुत ही प्रभावी माना जाता है। उज्जयी का अर्थ होता है विजयी या जीतने वाला। 

उज्जयी प्राणायाम का अभ्यास निरंतर रूप से करने वाला व्यक्ति सभी स्तर पर विजयी होता जाता है क्यूंकि इस प्राणयाम से व्यक्ति का शरीर और मन बहुत ही मजबूत और शांत हो जाता है। नींद अच्छी आती है 
शरीर के नसों का तनाव दूर होता है और thyroid gland पर यह सकारत्मक प्रभाव देता है। 


कुछ बातों का रखें ख़ास ख्याल :


  • योग और प्राणायाम को नियमित रूप से करें 
  • साफ़ और खुले स्थान पर करें 
  • किसी भी बीमार व्यक्ति और पालतू जानवरों के पास बैठ कर न करें 
  • प्रतिदिन साफ़ और पौष्टिक भोजन लें 
  • पानी की सही मात्रा का सेवन करें 
  • अपने आस पास के वातावरण को साफ़ रखें 




तो अपने देखा की प्राणायाम हमारे शरीर और मन दोनों पर अपना सकारत्मक प्रभाव डालते हैंहमें तनाव से मुक्त करके शरीर में उन सभी होर्मोनेस के स्त्राव को कम करते हैं जो हमरे immune system 
को कमज़ोर करते हैं। 

साथ ही blood circulation बढाकर उन अंगों में जहाँ किसी कारण से रक्त प्रवाह सही से न होने के चलते infections होने की सम्भवना बन रही होती है,उसे कम करके हमारी रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता को बढ़ाते हैं। 

यह भी पढ़ें :
Salabhasana-Steps, Benefits, And Precautions | Yoga For Back Pain 

जाने फैटी लिवर क्या होता और कैसे करें इससे अपना बचाव |Fatty Liver Disease Causes, Symptoms,Treatment



No comments:

Post a Comment